• Wednesday, December 13, 2017

पाकिस्तान ने अपने परमाणु ठिकानों को निशाना बनाने को लेकर भारत को चेतावनी दी

विविध Oct 06, 2017       106
पाकिस्तान ने अपने परमाणु ठिकानों को निशाना बनाने को लेकर भारत को चेतावनी दी

द करंट स्टोरी। पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा मोहम्मद आसिफ ने चेतावनी दी है कि भारत अगर देश (पाकिस्तान) के परमाणु ठिकानों पर सर्जिकल स्ट्राइक करता है, तो किसी को भी इस्लामाबाद से संयम बरतने की उम्मीद नहीं करनी चाहिए। 

'डॉन न्यूज' की रिपोर्ट के मुताबिक, आसिफ ने गुरुवार को भारतीय वायु सेना के प्रमुख बी.एस. धनोआ के उस बयान पर प्रतिक्रिया दी, जिसमें उन्होंने (धनोआ) कहा था कि अगर सर्जिकन स्ट्राइक करने की जरूरत पड़ी तो उनका लड़ाकू विमान पाकिस्तान के परणाणु ठिकानों को निशाना बना सकता है और उन्हें नेस्तनाबूद कर सकता है। 

विदेश मंत्री ने यहां 'यूनाइटेड स्टेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ पीस' पर एक चर्चा के दौरान भारतीय नेताओं से ऐसा कोई कदम नहीं उठाने की चेतावनी देते हुए कहा कि इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं। 

आसिफ ने कहा, " बुधवार को भारतीय वायु सेना प्रमुख ने कहा कि हम एक और सर्जिकल स्ट्राइक के जरिए पाकिस्तान के परमाणु ठिकानों पर हमला करेंगे। अगर ऐसा होता है, तो किसी को भी हमसे संयम बरतने की उम्मीद नहीं करनी चाहिए। यह सबसे कूटनीतिक भाषा है, जिसका मैं इस्तेमाल कर सकता हूं। "

वाशिंगटन की तीन दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर आए विदेश मंत्री ने अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन के साथ वार्ता करने के एक दिन बाद गुरुवार को अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जनरल एच.आर. मैकमास्टर से मुलाकात की। 

जहां पाकिस्तान और अमेरिका दोनों ने आसिफ-टिलरसन की मुलाकात को सकारात्मक व उपयोगी बताया, वहीं विदेश मंत्री (आसिफ) ने संकेत दिया कि मैकमस्टर के साथ उनकी मुलाकात इससे पहली मुलाकात के मुकाबले उतनी बेहतर नहीं रही।

Related News

महंगाई दर 3.58 फीसदी से बढ़कर 4.88

Dec 12, 2017

द करंट स्टोरी। खाद्य पदार्थो और ईधन की कीमतों में तेज बढ़ोतरी के कारण नवंबर में देश की सालाना मुद्रास्फीति दर आरबीआई (भारतीय रिजर्व बैंक) के 4 फीसदी के अंदर रखने के लक्ष्य से ज्यादा पहुंच चुकी है।  आधिकारिक आंकड़ों से मंगलवार को यह जानकारी मिली। सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय द्वारा प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक, नवंबर में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) बढ़कर 4.88 फीसदी पर रही, जो अक्टूबर में 3.58 फीसदी पर थी। 

Comment