• Saturday, October 21, 2017
Breaking News

गड़बड़ी के चलते थर्ड लाइन का काम रुका, CRS ने खोली RVNL की पोल

Exclusive Sep 06, 2017       4727
गड़बड़ी के चलते थर्ड लाइन का काम रुका, CRS ने खोली RVNL की पोल

प्रवेश गौतम, भोपाल। देश भर में हो रहे रेल हादसों के चलते रेल मंत्री सहित रेलवे बोर्ड चेयरमैन (सीआरबी) त​क को अपने पद से हाथ धोना पड़ा था, बावजूद इसके रेलवे में लापरवाही चरम पर हैं और यात्रियों की जान के साथ खिलवाड़ लगातार खिलवाड़ किया जा रहा है। 

 ताजा मामला भोपाल से इटारसी के बीच बन रही थर्ड रेल लाइन का है। इस लाइन के निर्माण में हो रही लापरवाही पर कमिश्नर रेलवे सेफ्टी (सीआरएस) ने संज्ञान लेते हुए पश्चिम मध्य रेलवे के महाप्रबंधक को पत्र लिखा है, जिसके बाद इस रेल लाइन का काम रोक दिया गया है। 

गौरतलब है कि नए रेल मंत्री पीयूष गोयल एवं नए सीआरबी अश्वनी लोहानी ने पदभार संभालते ही स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि संरक्षा व सुरक्षा में कोई भी लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। दोनों के ही दिशा निर्देशों की रेल विकास निगम लिमिटेड (आरवीएनएल) खुलेआम धज्जियां उड़ा रहा है।

द करंट स्टोरी को प्राप्त जानकारी अनुसार, सीआरएस (सेंट्रल सर्कल) एके जैन ने पश्चिम मध्य रेलवे के महाप्रबंधक को पांच सितंबर को एक पत्र लिखा है, जिसमें कि उन्होंने भोपाल से इटारसी के बीच बन रही थर्ड लाइन में कई गड़बड़ियों का उल्लेख करते हुए इस पर नाखुशी जाहिर की है। पत्र के मिलने के बाद थर्ड लाइन का काम रोक दिया गया है एवं संपूर्ण जोन व आरवीएनएल में हड़कंप मचा हुआ है।

पत्र के संपादित अंश
"2 सितंबर को लखनऊ से लौटते वक्त, भोपाल से इटारसी के बीच चल रहे थर्ड लाइन के काम को देखकर मुझे बेहद निराशा हुई। निर्माणाधीन लाइन में कई तरह की खामियां दिखीं। सीमेंट का काम, खुदाई का काम, बैंक का काम आदि में गुणवत्ता को नजरअंदाज किया जा रहा है। यह उचित नहीं है। वहीं ट्रेक के पास मशीनें पड़ी हुई दिखीं, जो कि संरक्षा नियमों का उल्लंघन हैं। मैने इसको लेकर भोपाल डीआरएम और सीटीई से बात की। दोनो ने ही यह बताया कि मंडल व जोन ने कई बार आरवीएनएल को इस बारे में बताया ​था, लेकिन ग्राउंड में कुछ हुआ ही नहीं। मैं इस लाइन का बाद में डिटेल में निरीक्षण करुंगा लेकिन मै चाहता हूं कि आपके द्वारा इस ओर तुरंत ध्यान दिया जाए।"

(नोट: इस पत्र की प्रति द करंट स्टोरी के पास उपलब्ध है। पत्र सही होने की पुष्टि सीआरएस ने द करंट स्टोरी से की है।)

 क्या सीपीएम हैं जिम्मेदार?
आरवीएनएल द्वारा बनाई जा रही थर्ड लाइन का काम चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर (सीपीएम) की देखरेख में हो रहा है। ऐसा हो नहीं सकता कि सीपीएम को इस मामले की जानकारी न हो। ऐसे में गुणवत्ता के साथ समझौता करना, भविष्य में कहीं लोगों की जान खतरे में न डाल दे। वर्तमान में विकास अवस्थी सीपीएम के पद पर कार्यरत हैं। 

द करंट स्टोरी ने पहले भी उठाया था मुद्दा
आरवीएनएल द्वारा नियमों का उल्लंघन कोई नई बात नहीं है। द करंट स्टोरी ने पहले भी ब्लास्टिंग के दौरान की गई लापरवारियों का मुद्दा उठाया था (तीसरी रेल लाइन के निर्माण में ब्लास्टिंग के दौरान लापरवाही, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा) और खबर को प्रमुखता के साथ प्रकाशित किया था। लेकिन किसी भी जिम्मेदार अधिकारी ने कुछ भी नहीं किया। ऐसे में आरवीएनएल और इसके अधिकारियों की मंशा पर सवाल खड़े होते हैं। 

यह भी पढ़ें

-तीसरी रेल लाइन में ब्लास्टिंग के दौरान कई नियमों का उल्लंघन: ग्राउंड रिपोर्ट (पार्ट 2)
-RVNL की लापरवाही पार्ट 3: कैसे ठेकेदारों के कर्मचारियों ने ली डायनामाइट के उपर सेल्फी
-'DAR' का डर सता रहा रेलवे अधिकारियों को !
-Impact: रेलवे बोर्ड ने जारी किए कॉरीडोर ब्लॉक देने के आदेश

 

Related News

भोपाल रेल मंडल LED SCAM: शाम को बंद कमरे में क्यों भराई गई एमबी बुक?

Oct 16, 2017

प्रवेश गौतम, भोपाल। हमने अपनी पिछली रिपोर्ट (भोपाल रेल मंडल में फैल रही लाखों के घोटाले की रोशनी, एक ADRM की भूमिका संदिग्ध!) में आपको बताया था कि भोपाल रेल मंडल में एलईडी लाइट फिटिंग के लिए निकाले गए टेंडर में नियमों को ताक पर रखकर खरीदी की गई और ठेकेदार को फायदा पहुंचाने के लिए लगभग 15 दिनों के अंदर भुगतान भी कर दिया गया।  क्या है मामला? भोपाल रेल मंडल के इलेक्ट्रिकल (जनरल)...

Comment