• Friday, June 22, 2018

BMC आयुक्त ने रखा खुफिया रिपोर्टर!

चच्चा की बातें Aug 20, 2017       974
BMC आयुक्त ने रखा खुफिया रिपोर्टर!

लो कर लो बात

सोमवार को भोपाल की चौपाल में अचानक ही भोपाल नगर निगम (BMC) अधिकारियों के बीच एक अजीब सी हलचल दिखी। जानने के लिए जैसे ही आगे बढ़ा, तो एक चच्चा में हाथ खींच लिया और कहने लगे कि-

"मियां फ़र्ज़ी भतीजे वहां मत जाओ। वहां आयुक्त द्वारा लगाया गया एक खुफिया रिपोर्टर भी है।"

मैं कुछ समझ नहीं सका। इससे पहले मैं कुछ पूछता, चच्चा ने इडली सांभर की ओर इशारा करते हुए बताया कि-

"मियां फ़र्ज़ी भतीजे, BMC आयुक्त ने महापौर को बदनाम करने और उनके खिलाफ माहौल बनाने के लिए अनाधिकृत तौर पर एक खुफिया रिपोर्टर की नगर निगम में नियुक्ति की है। इस रिपोर्टर का काम केवल इतना है कि महापौर के खिलाफ एक जैसी खबरें भोपाल के प्रमुख अख़बारों में छपवाना।"

पर चच्चा यह कैसे संभव है और इस खुफिया रिपोर्टर का क्या मतलब है?

चच्चा ने ज्यादा तो कुछ नहीं बोला पर चाय का कप पकड़ाते हुए कहने लगे कि-

"मियां फ़र्ज़ी भतीजे, यदि मेरी बात पर यकीन न हो तो, पिछले लगभग 2 महीनों के अखबार देख लो, लगभग सभी में महापौर के खिलाफ एक जैसी खबर छपी है। और इसमें खुफिया रिपोर्टर का ही हाथ है, जिसे आयुक्त ने नौकरी पर रखा है, यकीन न हो तो नोटशीट की कॉपी RTI में मांग लो।"

इतना कहकर चच्चा आगे चल दिए और उस खुफिया रिपोर्टर की तरफ देखकर मुस्कुरा दिए......

मैं तो कुछ समझ नहीं सका पर शायद खुफिया रिपोर्टर पर RTI कार्यकर्त्ता कुछ कर सकें।

क्रमशः..........

लो कर लो बात

(नोट: 'चच्चा' एक काल्पनिक किरादार हैं एवं इसका किसी भी व्यक्ति या संस्था से कोई लेना देना नहीं है। 'लो कर लो बात' एक गॉसिप कॉलम है एवं विभागों में चल रहीं खुसर फुसर पर आधारित है।)

चच्चा की और भी बातें:

भोपाल नगर निगम के शौचालय में गंदगी के चलते महिला कर्मी ने दिया इस्तीफा, फिर भी देश मे नं 2

- भोपाल नगर निगम में क्यों गूंज रहे इंदौरी किस्से?

- रेलवे के मोबालिटी डायरेक्टरेट में साहब का कमाल, 11 के विकट चटकाए

- जब फटे तौलिए से हुआ रेलवे सीआरएस का स्वागत

Related News

Rly Member Traction के दुश्मनों की बड़ी साजिश!

May 28, 2018

GM सहित Sr DEE ने खर्च की रकम लो कर लो बात पिछले दिनों से रेलवे बोर्ड में कुछ अजीब सा हो रहा था, इसी बीच मैं भी CRB से मिलने रेलवे बोर्ड गया था। रेल भवन में जब मैं अपनी फोटू खिंचवाने के लिए पोज़ ले ही रहा था, की अचानक ही, एक आवाज़ आई, कैसे हो मियां फ़र्ज़ी भतीजे। मैं कुछ चौंककर आसपास देखा तो, security guard के ऑफिस के पीछे, एक अधिकारी...

Comment